WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार pdf (Rajasthan Ki Sthiti evam Vistaar)

राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार pdf | Rajasthan Ki Sthiti evam Vistaar | अवस्थिति, आकृति, आकार एवं विस्तार | महत्वपूर्ण प्रश्न pdf | भूगोल एक परिचय | विस्तार | एशिया | राजस्थान की आकृति कैसी है |भौगोलिक स्थिति के प्रश्न


राजस्थान की] स्थिति एवं विस्तार – राजस्थान क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य है। राजस्थान की स्थिति और विस्तार राजस्थान के सरकारी और गैर सरकारी विभागों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है। इस विषय से सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रश्न अवश्य पूछे जाते है। इस पोस्ट में राजस्थान की स्थिति और विस्तार (Rajasthan Ki Sthiti evam Vistaar) से सम्बन्धित सभी तथ्यों एवं विभिन्न परीक्षाओं में पूछे गए प्रश्नों को, जो आगामी exams के लिए महत्वपूर्ण है, कवर किया गया है।

राजस्थान की आकृति :- 

  • विषमकोणीय चतुर्भुज
  • पतंगाकार
  • रोमबॉस
  • राजस्थान की आकृति सबसे पहले विषम कोणीय चतुर्भुज(या पतंग) विद्वान टी. एच. हेण्डले ने बतायी थी।

राजस्थान का क्षेत्रफल :-

क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान, भारत का सबसे बड़ा राज्य है। 1 November, 2000 को मध्यप्रदेश से छतीसगढ़ के अलग होने से राजस्थान, भारत का सबसे बड़ा राज्य बना। इससे पूर्व मध्यप्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य था। राजस्थान का क्षेत्रीय विस्तार 3,42,239 वर्ग किलोमीटर या 1,32,139 वर्गमील है यह भारत के कुल क्षेत्रफल का 10.41% है।

  • क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत के सबसे बड़े राज्यों का अवरोही क्रम- राजस्थान, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र तथा उत्तरप्रदेश
  • भारत के छोटे राज्यों का आरोही क्रम – GST – गोवा, सिक्किम, त्रिपुरा

Explaination :-

किलोमीटर में = 3,42,239 वर्ग किमी.
मील में = 1,32,139 वर्गमील
1.1 km. = 1000 मीटर
2. 1 mile = 1600 मीटर 1.61 km. लगभग (भूमि पर)
3. 1 mile = 1800 मीटर 1.82km. (पानी में)

सूत्र :
क्षेत्रफल वर्ग किमी./1.61×1.61
=3,42,239/2.59 =1,32,139 वर्गमील (लगभग)

  • राजस्थान, भारत का हिस्सा 1/10 या 10.41% है।
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का स्थान भारत में प्रथम स्थान = 1 November, 2000
  • भारत राजस्थान के क्षेत्रफल का  9.60 गुणा भाग रखता है।

विश्व के देशों के साथ क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान की तुलना

  • इजराइल से 17 गुणा बड़ा है।
  • बेल्जियम से 11 गुणा बड़ा है।
  • भूटान से 8 गुणा बड़ा है।
  • श्रीलंका से 5 गुणा बड़ा है।
  • चेकोस्लोवाकिया से 3 गुणा बड़ा है।
  • नेपाल से 2.5 गुणा बड़ा है।
  • ब्रिटेन से 2 गुणा बड़ा है।
  • इटली से राजस्थान कुछ बड़ा है।
  • जर्मनी राजस्थान के बराबर है।
  • जापान राजस्थान से कुछ बड़ा है।

भारत के राज्यों से क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का सम्बन्ध

  • कर्नाटक व गुजरात से 2 गुना बड़ा है।
  • तमिलनाडु ओडिशा से 2.12 गुना बड़ा है।
  • बिहार से 3 गुना बड़ा है।
  • केरल से 5 गुना बड़ा है।
  • पंजाब व हरियाणा से 7 गुना बड़ा है।

राजस्थान में जिले – कुल 33

  • राजस्थान के क्षेत्रफल की दृष्टि से वृहत्/बड़े जिले
    • जैसलमेर – 38401 वर्ग किमी. / (14826 वर्गमील)
    • बाड़मेर – 28387 वर्ग किमी.
    • बीकानेर – 27244 वर्ग किमी.
    • जोधपुर – 22850 वर्ग किमी.
  • राजस्थान में क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटे जिले:
    • धौलपुर 3034 वर्ग किमी. / (1711 वर्गमील)
    • दौसा 3432 वर्ग किमी.
    • डूंगरपुर 3770 वर्ग किमी.
    • राजसमंद 3860 वर्ग किमी.
  • राजस्थान का सबसे बड़ा जिला जैसलमेर (38401 वर्ग किमी.), सबसे छोटे जिले धौलपुर (3034 वर्ग किमी.) से 12.66 गुणा बड़ा है।
  • राजस्थान का जैसलमेर जिला राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का 11.22% भाग रखता है जबकि धौलपुर 0.89% भाग रखता है ,वहीं दौसा जिला 1% भाग रखता है।
  • जैसलमेर का क्षेत्रफल राजस्थान के क्षेत्रफल का 11.22 प्रतिशत हिस्सा है।
  • पूर्वी राजस्थान के जिले क्षेत्रफल की दृष्टि से छोटे व जनसंख्या की दृष्टि से बड़े है।
  • पश्चिमी राजस्थान के जिले क्षेत्रफल की दृष्टि से बड़े व जनसंख्या की दृष्टि से छोटे है।
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से राज्य का बड़ा नगर जयपुर व छोटा बोरखेड़ा (बांसवाड़ा) है।
  • गोवा, सिक्किम, त्रिपुरा, नागालैंड, मिजोरम, मणिपुर, मेघालय से राजस्थान के 4 जिले क्षेत्रफल की दृष्टि से बड़े हैं – J.B.B.J
  • राजस्थान राज्य के कुल क्षेत्रफल व कुल जनसंख्या के कौनसा जिला लगभग एक समान प्रतिशत अंक रखता है – सिरोही।

राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार pdf

राजस्थान की स्थिति :-

क्षेत्रफल की दृष्ठि  से भारत का सबसे बड़ा राज्य राजस्थान की, भारत के नक़्शे में स्थिति उत्तर – पश्चिमी भाग में है। जबकि ग्लोब / विश्व में राजस्थान की स्थिति उत्तरी – पूर्वी गोलार्द्ध में है अर्थात् अक्षांश उत्तरी तथा देशांतर पूर्वी है, वहीं एशिया महाद्वीप में राजस्थान की स्थिति दक्षिण – पश्चिम में है।

भारत, एशिया एवं विश्व में राजस्थान की स्थिति

भारत, एशिया एवं विश्व में राजस्थान की स्थिति

 

राजस्थान की अक्षांशीय एवं देशांतरिय स्थिति

राजस्थान की अक्षांशीय एवं देशांतरिय स्थिति

  • भारत = उत्तर – पश्चिम
  • भारत में कोण – वायव्य कोण
  • विश्व = उत्तर – पूर्व,
  • विश्व में कोण = ईशान
  • एशिया महाद्वीप = दक्षिण – पश्चिम
  • ग्लोब = उत्तरी – पूर्वी गोलार्द्ध

राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार pdf (Rajasthan Ki Sthiti evam Vistaar)

राजस्थान की अंक्षाशीय स्थिति / अंक्षाशीय विस्तार :- 

दक्षिण ← 826 किमी. → उत्तर
23°03′ उत्तरी अंक्षाश 30°12′ उत्तरी अंक्षाश
स्थान – बोरकुण्ड स्थान – कोणा
तहसील – कुशलगढ़ तहसील – श्रीगंगानगर
जिला – बाँसवाड़ा जिला  – श्रीगंगानगर
  • 23°03′ से अंक्षाशीय विस्तार / अन्तराल =  30°12′ – 23°03′  = 7°09′
  • राजस्थान से पूर्ण मान की 7 अक्षांश रेखाएं (24°N, 25°, 26°, 27°, 28°, 29°, 30°N) गुजरती है जिनमे 27° उत्तरी अक्षांश मध्यवर्ती अक्षांश है।
  • राजस्थान में कर्क रेखा:
    • 23°30′ उत्तरी अंक्षाश / उत्तरी आयनांत / कर्क रेखा राज्य के डूंगरपुर जिले की दक्षिणी सीमा पर चिखली गांव को नाममात्र स्पर्श करती  हुई बाँसवाड़ा जिले के लगभग मध्य से गुजरते हुए कुशलगढ़ को दक्षिण में छोड़ते हुए शेष राजस्थान को उत्तर में विभाजित करती है। अर्थात राजस्थान राज्य का अधिकांश भाग कर्क रेखा के उत्तर में स्थित है।
    • राजस्थान में बांसवाड़ा ( कुशलगढ़) कर्क रेखा के सर्वाधिक नजदीक शहर है।
    • राजस्थान में कर्क रेखा की कुल लम्बाई 26 km.
    • कर्क रेखा का सर्वाधिक विस्तार बांसवाड़ा व न्यूनतम डूंगरपुर है।
    • कर्क रेखा के नजदीक जिला मुख्यालय बांसवाड़ा  तथा दूर श्री गंगानगर है।

21 जून :-

  •  राजस्थान / उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे बड़ा दिन (Day light – 23h 27min.) 21 जून होता है क्योंकि 21 जून को सूर्य कर्क रेखा पर लम्बवत होता है।
  • 21 June – कर्क सक्रांति
  • सबसे बड़ा दिन एवं सबसे छोटी रात
  • नोट – 2015 से 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • दिन की अवधि दक्षिण से उत्तर की ओर बढ़ती है।
  • सबसे छोटी परछाई

22 दिसम्बर :-

  • राजस्थान में सबसे बड़ी रात एवं सबसे छोटा दिन
  • 22 December – मकर सक्रांति
  • रात की अवधि दक्षिण से उत्तर की ओर बढ़ती है ।
  • सबसे बड़ी परछाई

नोट –

  •  22 Dec. – राजस्थान में सूर्य की सबसे तिरछी किरण (श्री गंगानगर)
  • 21 जून – राजस्थान में सूर्य की सबसे लम्बवत किरण  – (बांसवाड़ा)
  • राजस्थान में दिन की अवधि बढ़ना /रात की अवधि घटना शुरू होती है – 22 Dec
  • राजस्थान में दिन की अवधि घटना / रात की अवधि बढना शुरु होती है – 21 June
  • राजस्थान में दिन बड़ा व रात छोटी होगी – 21 March से 23 September
  • राजस्थान में रात की अवधि बड़ी व दिन छोटा 23 September से 21 March
  • राजस्थान में दिन रात बराबर – 21 March व 23 September
  • राजस्थान का मध्यवर्ती अक्षांश 27° उत्तरी अक्षांश है जो जैसलमेर(जिला मुख्यालय), जोधपुर, नागौर, जयपुर(जिला मुख्यालय), दौसा(जिला मुख्यालय), भरतपुर जिलों से गुजरता है

राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार (Rajasthan Ki Sthiti evam Vistaar)

राजस्थान की देशान्तरीय स्थिति / देशान्तरीय विस्तार :-

पश्चिम ← 869 किमी. → पूर्व
69°30′ पूर्वी देशान्तर 78°17′ पूर्वी देशान्तर
स्थान – कटरा स्थान – सिलावट
तहसील – सम(जैसलमेर) तहसील – राजाखेड़ा
जिला – जैसलमेर जिला  – धौलपुर
  • 69°30′ देशांतरिय विस्तार / अन्तराल = 78°17′ – 69°30′ – 8°47
  • सूर्य को एक देशान्तर पार करने में 4 मी. का समय लगता है।
  • राजस्थान के पूर्व से पश्चिम जाने पर लगा समय = 8°47×4 = 35’8″
  • राजस्थान के पूर्ण मान की 9 देशांतर रेखाएं गुजरती है – 70° पूर्वी देशान्तर, 71°, 72°, 73°, 74°, 75°, 76°, 77°, 78° पूर्वी देशान्तर
  • 74° पूर्वी देशान्तर राजस्थान के मध्य से गुजरती है। यह देशान्तर कुल 8 जिलों से गुजरता है – श्री गंगानगर, बीकानेर, जोधपुर, नागौर, पाली, राजसमंद, उदयपुर, डूंगरपुर

समय की गणना :-

मानक समय – किसी भी एक देशान्तर को आधार मानकर समय निर्धारण करना 

  • भारत का मानक समय 82°30′ पूर्वी देशान्तर से निर्धारित है।

स्थानीय समय – सूर्य की स्थिति के आधार पर समय।

  • राजस्थान में सबसे पहले सूर्योदय व सूर्यास्त धौलपुर(सिलावट) में तथा सबसे बाद में सूर्योदय व सूर्यास्त जैसलमेर (कटरा) में होता है।

समय गणना के नियम – 

1. यदि समान गोलार्द्ध (पूर्व – पूर्व , पश्चिम – पश्चिम) हो तो उन्हें आपस में घटाते है, तथा विपरीत गोलार्द्धों (पूर्व – पश्चिम) को आपस में जोड़ते हैं ।

2. ग्लोब में पूर्व की और जाने पर समय हमेशा बढेगा तथा पश्चिम में जाने पर समय हमेशा घटेगा समय के घटने-बढ़ने की यह दर 4 मिनट प्रति देशांतर होती है ।

राजस्थान की स्थिति एवं विस्तार – अन्य महत्वपूर्ण तथ्य :-

  • राजस्थान भारत के वायव्य कोण / उ. प. दिशा में स्थित है।
  • राजस्थान का अक्षांशीय विस्तार – 23°03′ उ. अ. से 30°12′ उ. अ.
  • राजस्थान का देशांतरीय विस्तार – 69°30′ पूर्वी. देशांतर से 78°17′ पूर्वी. देशांतर
  • अक्षांशीय अंतर – 7°09
  • देशांतरीय अंतर – 8°47′
  • उत्तर से दक्षिण की लंबाई – 826 km
  • पूर्व से पश्चिम की चौड़ाई – 869km
  • दक्षिणी बिंदु – 69°30′ पूर्वी. देशांतर बोरकुण्ड, बांसवाड़ा ( तहसील – कुशलगढ़)
  • उत्तरी बिंदु – 78°17′ पूर्वी. देशांतर कोणा गांव, श्रीगंगानगर ( तहसील – श्रीगंगानगर)
  • पूर्वी बिंदु – सिलाना, धौलपुर (तहसील -राजाखेड़ा) 23°03′ उ. अ.
  • पश्चिमी बिंदु – कटरा, जैसलमेर (तहसील – सम) 30°12
  • वायव्य कोण व आग्नेय कोण की दूरी ( उ. प. से द. पू. ) – 850km
  • ईशान कोण व नैऋत्य को की दूरी ( उ. पू. से द. प. ) – 784 km
  • राजस्थान की पूर्व से पश्चिम तथा उत्तर से दक्षिण की लम्बाई में कुल अंतर –  43 किलोमीटर
  • राजस्थान के उत्तर- पश्चिम से दक्षिण -पूर्व तक के विकर्ण की लंबाई – 850 किलोमीटर
  • राजस्थान के दक्षिण-पश्चिम से उत्तर-पूर्व तक के विकर्ण की लम्बाई – 784 किलोमीटर
  • राजस्थान के विकर्ण की लम्बाई में कुल अंतर = 66 किलोमीटर
  • राजस्थान के मध्यवर्ती अक्षांश एवं देशांतर रेखाएं नागौर जिले में एक दुसरे को काटती है।
  • मध्य में स्थित गांव – लापोलाई (नागौर)
  • सैटेलाइट सर्वे के अनुसार राजस्थान का मध्य गांव – गगराना (नागौर)
  • राजस्थान में सूर्य के सीधेपन का आरोही / तिरछेपन का अवरोही क्रम – गंगानगर, हनुमानगढ़, ………., डूंगरपुर, बाँसवाड़ा 
  • राजस्थान में सूर्य के सीधेपन का अवरोही क्रम / तिरछेपन का आरोही क्रम – बाँसवाड़ा, डूंगरपुर, ,…………, हनुमानगढ़, गंगानगर
  • उत्तर से दक्षिण जाने पर – सूर्य का सीधापन बढेगा / तिरछापन घटेगा
  • 1° = 60 मिनट
  • 1′ = 1 मिनट
  • 1′ = 60 सेकण्ड
  • 1″ = 1 सेकण्ड

अक्षांश, देशांतर एवं कर्क रेखा

  • ग्लोब में खड़ी रेखाएँ – देशांतर रेखाएं
  • ग्लोब में आड़ी रेखाएँ – अक्षांश रेखाएं
  • 23°30′ उत्तरी अक्षांश – कर्क रेखा
  • 23°30′ दक्षिणी अक्षांश – मकर रेखा
  • अक्षांश रेखाओं के बीच का क्षेत्र – कटिबन्ध
  • दो अक्षांश रेखाओं के बीच की दूरी – 111.13KM
  • देशांतर रेखाओं के बीच का क्षेत्र – गौर
  • दो देशांतर रेखाओं के बीच की दूरी – 111.32KM

कर्क रेखा

  • भारत के आठ राज्यों से गुजरती है।
  • ट्रिक – बंगु राम झा छत्रि मि

बं – पश्चिम बंगाल
गु – गुजरात
रा – राजस्थान
म – मध्यप्रदेश
झा – झारखंड
छ – छत्तीसगढ़
त्रि – त्रिपुरा
मि – मिजोरम

  • भारत मे सर्वाधिक लंबाई – मध्यप्रदेश में
  • न्यूनतम लंबाई – त्रिपुरा में
  • राजस्थान में लंबाई – 26 KM
  • राजस्थान में सर्वाधिक लंबाई – बांसवाड़ा
  • न्यूनतम लंबाई – चिखली गांव (डूंगरपुर)
  • राजस्थान के पश्चिमी भाग(जैसलमेर)व पूर्वी भाग(धौलपुर)के मध्य समयांतराल = 8°47′

1°देशांतर = 4 मिनट
1′ देशान्तर = 4 सेकेंड
= 8°× 4′ + 47′ × 4″
32 मिनट + 188 सेकेण्ड
32 मिनट + 3 मिनट + 08 सेकेण्ड
= 35 मिनट 8 सेकेण्ड

राजस्थान की स्थिति और विस्तार – प्रश्न

प्रश्न – निम्न में से सही है ?
A. बोरकुण्ड (बाँसवाड़ा) – 23°3‘ उत्तरी अक्षांश
B. कोणा (श्रीगंगानगर) – 30°12‘ उत्तरी अक्षांश
C. कटरा (जैसलमेर ) – 69°30‘ पूर्वी देशान्तर
D. सिलावट (बाँसवाड़ा) – 78°17 ‘ पूर्वी देशान्तर
कूट
i. केवल B            ii. केवल A, B, C
iii. केवल C, D     iv. A, B, C, D✔️

Leave a Comment

error: Content is protected !!